Join Free | Sign In | Blog
  • Mantra Tantra Yantra Vigyan
  • Mantra Tantra yantra vigyan
  • Mantra Tantra yantra Sadhana
  • Mantra Tantra Yantra Vigyan Gurudev Dr. Narayan Dutt Shrimaliji

Measures to achieve Mantra मंत्र सिद्धि के उपाय

Measures to achieve Mantra मंत्र सिद्धि के उपाय


मंत्र सिद्धि के उपाय

श्रद्धा विधि के साथ मंत्र साधना और अनुष्ठान करने पर भी सफलता न मिले तो उसे पुनः करना चाहिए . बार बार करने पर भी यदि इच्छित सफलता नहीं मिल पाए तो निम्नलिखित सात उपायों में से कोई एक उपाय करना चाहिए , ध्यान रहे सातों उपाय एक साथ निषिद्ध हे यदि एक उपाय करने पर मंत्र सिद्धि न हो तो फिर दूसरा उपाय करना चाहिए इससे निश्चित ही सफलता प्राप्त हो सकेगी

पहला उपाय ( भ्रामन) - इस क्रिया में भोजपत्र पर वायु बीज " यं " तथा मंत्र का एक अक्षर फिर " यं " तथा मंत्र का दूसरा अक्षर - इस प्रकार पूरा मंत्र " यं " वायु बीज से ग्रथित करे. भोजपत्र पर कर्पूर , कुमकुम . खस, और चदन को मिलकर उस लेप या स्याही से लिखे और जब मंत्र पूरा लिख दिया जाये तो उसका षोडशोपचार से पूजन करे . ऐसा करके यदि मंत्र का अनुष्ठान किया जाये तो निश्चित रूप से मंत्र सिद्ध होता हे.

दूसरा उपाय ( रोधन ) - वाग़ बीज " ऐं " के द्वारा मंत्र को संपुटित करकर एक सहस्त्र मंत्र जाप किया जाये तो मंत्र साधना ,में पूर्ण सफलता मिलती हे.

तीसरा उपाय ( वश्य ) - अलक्तक , रक्त चन्दन , कूट , धतूरे के बीज और मेनसिल इस पांचो चीजो को बराबर भाग में मिलाकर भोजपत्र पर मूल मंत्र लिख कर उसे गले में धारण करे तो सम्बंधित साधना में सफलता मिलती हे.

चोथा उपाय ( पीडन ) - अधरोतर योग से मंत्र जप करने पर अधरोत्तर देवी की पूजा करे , इसके पश्चात् अक्वन के दूध से भोजपत्र पर मंत्र लिख कर उसे बांये पैर के निचे दबाकर मूल मंत्र से १०८ आहुति से तो निश्चित ही साधना में सफलता मिलती हे .

पांचवा उपाय ( पोषण ) - भोजपत्र पर गाय के दुध से मंत्र लिखकर उसे द्सहिनी भुजा पर बांधे, तथा मूल मंत्र में "स्त्री "शब्द का सम्पुट देकर एक सहस्त्र मंत्र जप करे , निश्चय ही पूर्ण सफलता मिलेगी

छठा उपाय ( शोषण ) - यज्ञ की भस्म से भोजपत्र पर मंत्र लिखकर उसे दाहिनी भुजा परे बांधे और " यं " बीज द्वारा मूल मंत्र को संपुटित करके एक सहस्त्र जाप करे, कोई संदेह नहीं की सफलता ना मिले

सातवा उपाय ( दाहन ) - मंत्र के प्रत्येक अक्षर में अग्नि बीज "रं" का सम्पुट देकर एक सहस्त्र जाप करे साथ ही पलास बीज के तेल से भोजपत्र पर मंत्र लिख कर कंधे पे धारण करे तो निश्चय ही पूर्ण सफलता प्राप्त होती हे

अगर फिर भी किसी साधना में किसी कारण से सफलता प्राप्त न हो रही तो गुरु का सहारा लेने चाहिए , गुरु की एक कृपा द्रष्टि से समस्त दोष अपने आप दूर हो जाते हे.

जय गुरुदेव

सोजन्य से
मंत्र रहस्य

गुरु मंत्र
ॐ परम तत्वाय नारायणाय गुरुभ्यो नमः

प - पराकाष्टा - भौतिक और आध्यात्मिक
र - अग्नि तत्त्व - सारा ब्रह्माण्ड का ज्ञान
म - माधुर्य - आत्मिक शांति
त - तत्वमसि - असीमित शक्ति
वा - वायु - पांच प्रकार ,क्रिया योग में पारंगत
य - यम - यम पर पूर्णे विजय ,आकर्षक व्यक्तित्व
ना - नाद - दिव्य संगीत
रा - रास - दिव्य उत्सव ,पूर्ण कुण्डलिनी जागरण
य - यथार्थ , परम सत्य
ण - अणु या ब्रह्म - अष्ट सिद्धि
य - यज्ञ शास्त्र में पारंगत
गु - गुंजरन - गुरु का बीज मंत्र
रु - रूद्र - कभी वृद्ध नहीं होता ,सर्वव्यापी ,सर्वज्ञाता और सर्वशक्तिशाली
यो - योनि - फिर जन्म नहीं लेना पड़ता ,शिव की शक्ति
न - नवीनता - एक नयापन ,हर क्षण नया व्यक्तित्व
म - मातृत्व - असीमित ममता

======================

Measures to achieve Mantra

If you do not get success even if you practice mantra and practice rituals with devotion, then it should be done again. If you do not get the desired success even after repeated attempts, then one of the following seven measures should be done, keep in mind that seven measures are prohibited at once. Will be able to get

First remedy (Bhraman) - In this action, the air seed "Y" and a letter of the mantra then "Y" and the second letter of the mantra on the Bhojpatra - thus make the whole Mantra "Y" permeated with the air seed. Karpoor, Kumkum on the banquet. Write Khas and Chadan together with that paste or ink and when the mantra is completely written, then worship it with hex. If you do the ritual of mantra by doing this, then surely the mantra is proved.

Second Remedy (Rodhan) - By completing the mantra with the Vag Beej "Ain" and chanting a Sahasra Mantra, you can get complete success in Mantra Sadhana.

Third remedy (Vashya) - If you mix the five things in equal parts, alantak, blood sandalwood, code, datura seeds and mainsil and put it on your throat by writing the basic mantra on the bhojapatra, then you get success in related meditation.

Chotha Remedy (Pidan) - After chanting mantras with post-mortem yoga, worship the post-mortem goddess, after this, by writing a mantra on the bhojpatra with milk of akavan and pressing it under your left foot, with the 108 mantras from the original mantra, you definitely get success in meditation. .

Fifth Remedy (Nutrition) - Write a mantra from cow's milk on the Bhojpatra and tie it on the right arm, and chant a thousand mantra by giving the word "Stree" in the original mantra, it will surely get complete success.

Sixth Remedy (Exploitation) - Write a mantra on the bhojpatra with the ashes of the yajna and tie it beyond the right arm and chant a millenium by announcing the original mantra by the "yan" seed, no doubt no success

Seventh Remedy (Dahan) - In each letter of the mantra, chanting a thousand seeds by giving the fire seed "rang" as well as wearing a mantra on Bhojpatra with oil of pulse seed and wearing it on the shoulder, you will surely get complete success.

If, however, success is not being achieved for any reason in any spiritual practice, then one should take recourse to the Guru, with the grace of a Guru, all the defects are automatically removed.

Jai Gurudev

With respect
Mantra mystery

Guru mantra
Om Taravaya Narayana Gurubhyo Namah

P - Parakashata - physical and spiritual
R - fire element - knowledge of the whole universe
M - Melody - spiritual peace
T - Element - Unlimited Power
Va vayu - five types, perfected in Kriya yoga
Y - Yama - Complete victory over Yama, attractive personality
Na - Naad - Divine Music
Ra-Raas - Divine Celebration, Complete Kundalini Awakening
Y - reality, absolute truth
N - Atoms or Brahm - Ashta Siddhi
Y - Experienced in Yajna Shastra
Th - Gunjaran - Guru's Beej Mantra
Ru - Rudra - Never grows old, omnipresent, omniscient and omnipotent
Yo - Vagina - No more birth, Shiva's power
Newness - a newness, a new personality every moment
M - Motherhood - Unlimited Mothering



Guru Sadhana News Update

Blogs Update